December 2018 - TaxOnline24

TaxOnline24

Complete solution at a single window

Hot

Post Top Ad

Saturday, 22 December 2018

जीएसटी / अब 28% टैक्स स्लैब में केवल 28 आइटम, सिनेमा टिकट-टीवी-टायर सस्ते होंगे

Saturday, December 22, 2018 0
जीएसटी / अब 28% टैक्स स्लैब में केवल 28 आइटम, सिनेमा टिकट-टीवी-टायर सस्ते होंगे
  • 28% टैक्स स्लैब में अब केवल 28 वस्तुएं हैं
  • सीमेंट और ऑटो मोबाइल पर टैक्स में कोई कटौती नहीं की गई
  • विमान से धार्मिक यात्राएं करना सस्ता होगा
  • रियल एस्टेट पर फैसला काउंसिल की अगली बैठक में होगा
नई दिल्ली. जीएसटी काउंसिल की बैठक के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि 28% के सबसे ऊंचे स्लैब में से 6 वस्तुएं बाहर की गई हैं। अब इस स्लैब में केवल 28 वस्तुएं हैं और ये सभी लग्जरी आइटम हैं। उन्होंने बताया कि सिनेमा टिकट, 32 इंच तक के टीवी, टायर की टैक्स दर घटाई गई है।

जीएसटी / अब 28% टैक्स स्लैब में केवल 28 आइटम, सिनेमा टिकट-टीवी-टायर सस्ते होंगे

टॉप टैक्स स्लैब में 0.5 या 1% वस्तुएं बचीं
जेटली ने कहा कि अब टॉप टैक्स स्लैब में 1200 वस्तुओं में से केवल 0.5 या 1 फीसदी चीजें बची हैं। उन्होंने कहा कि मौजूदा कर कटौती का राजस्व पर असर पड़ेगा, जो कि 5500 करोड़ होगा। जेटली ने बताया कि काउंसिल की बैठक में 33 वस्तुओं पर जीएसटी घटाने पर सहमति बनी। 28% टैक्स स्लैब से 6 वस्तुएं बाहर की गई हैं। 18% टैक्स स्लैब से 26 वस्तुओं को हटाकर इनकी टैक्स स्लैब 12% या 5% की गई।


टैक्स स्लैब में यह बदलाव किए गए
  • सीमेंट और ऑटो पार्ट्स पर जीएसटी की दरों में कोई कटौती नहीं की गई है।
  • टीवी, टायर, मोबाइल बैटरी, वीडियो गेम को 28% टैक्स स्लैब से 18% टैक्स स्लैब में लाया गया है।
  • विमान से धार्मिक यात्राओं पर पहले 18% टैक्स लगता था। लेकिन, अब ये सामान्य टैक्स की तरह यानी इकोनॉमी के लिए 5% और बिजनेस क्लास के लिए 12% होगा।
  • 100 रुपए तक की सिनेमा की टिकटों 18% जीएसटी से 12% में लाया गया। 100 से ऊपर वाली टिकटों को 28% से 18% कर दिया गया है।
  • बैंकों की तरफ से जन-धन खाताधारकों को दी जाने वाली सेवाओं को जीएसटी के दायरे से बाहर रखा गया है। 
  • एसी, डिशवॉशर पर 28% जीएसटी लगेगा। 
  • थर्ड पार्टी इंश्योरेंस प्रीमियम पर जीएसटी 18% से 12% कर दिया गया है।
  • रियल एस्टेट सेक्टर में जीएसटी पर फैसला काउंसिल की अगली बैठक में लिया जाएगा। सभी का यह मानना है कि इस क्षेत्र में कुछ बदलाव होना चाहिए।
डेढ़ साल में 198 वस्तुएं 28% टैक्स स्लैब से बाहर

1 जुलाई 2017 से जीएसटी लागू हुआ तो 28% टैक्स स्लैब में 226 वस्तुएं थीं। डेढ़ साल में इनमें से 198 वस्तुओं पर टैक्स कम किया गया है। अभी 28% जीएसटी स्लैब में 28 वस्तुएं हैं। इनमें सीमेंट के अलावा वाहन, ऑटोमोबाइल पार्ट्स, याट, एयरक्राफ्ट, कोल्ड ड्रिंक्स, तंबाकू, सिगरेट और पान मसाला जैसी वस्तुएं शामिल हैं।
Read More

Thursday, 20 December 2018

Letter of Management Representation under GST Audit in Word format

Thursday, December 20, 2018 0
The auditor is required to obtain all the relevant management representation certificates from the client before the GST Audit Report is signed.

Suitable Management representation letter to be obtained since this information is not apparently available on the face of the financial statements.


(Reference :- Technical Guide on Annual Return & GST Audit issued by The Institute of Chartered Accountants of India )

Link to Suggested format :-

Server 1:- Click Here
Server 2:- Click Here
Server 3:- Click Here
Server 4:- Click Here
Server 5:- Click Here
Server 6:- Click Here
Server 7:- Click Here
Server 8:- Click Here
Read More

ऑनलाइन ट्रान्सफर करते समय अगर गलती से गलत बैंक खाते में पैसा ट्रान्सफर हो जाए तो क्या पैसा वापस मिल सकता है? क्या करना होगा?

Thursday, December 20, 2018 0
अगर आप ऑनलाइन तरीके से पैसे ट्रांसफर कर रहे हैं तो ऐसे में गलती होने की संभावना कम होती है, क्योंकि ऑनलाइन फंड ट्रांसफर करने के लिए आपको अकाउंट होल्डर को अप ने बैंक खाते से जोड़ना होता है। जिसके लिए आपको दो बार उसके अकाउंट नंबर को एड करना होता है। इसके अलावा आईएफएससी कोड डालना होता है। अगर आप के अकाउंट नबंर लिखने में कोई भी गलती की तो बैंक उसे रिजेक्ट कर देता है और आप पैसा ट्रांसफर नहीं कर पाते हैं।
 ऑनलाइन ट्रान्सफर करते समय अगर गलती से गलत बैंक खाते में पैसा ट्रान्सफर हो जाए तो क्या पैसा वापस मिल सकता है? क्या करना होगा?

इसके अलावा अगर अकाउंट नंबर अगर आपको गलत ध्यान है और पैसा भी ट्रांसफर हो जाये तो इसके लिए ये चीजें कर सकते है।




आपको फौरन इस बात की जानकारी बैंक को देनी चाहिए। सूचना मिलने के बाद बैंक उस व्यक्ति का अकाउंट नंबर जिस बैंक में है, वहां सूचना पहुंचाएगा। जिसके बाद बैंक उस अकाउंट होल्डर से गलती से ट्रांसफर हुए पैसे को वापस करने की अनुमति मांगेगा। अगर वह व्यक्ति तैयार होता है तो आपको अपने पैसे वापस मिल जाएंगे। लेकिन अगर वह पैसा लौटाने के लिए तैयार नहीं होता है तो उसके खिलाफ कोर्ट में केस दर्ज करा सकते हैं। अगर आपने जिस अकाउंट में पैसे डाले हैं वो भी उसी बैंक का है, जिसमें आपका अकाउंट है तो तो गलती ठीक होने में कम समय लगता है।

भारतीय रिजर्व बैंक की गाइडलाइन के अनुसार लाभार्थी के खाते की सही जानकारी देना अकाउंट लिंक करने वाले की जिम्मेदारी है। अगर, आपके अकाउंट नबंर में लिखने में कोई गलती होती है तो बैंक जिम्‍मेदार नहीं होगा। गाइडलाइंन के मुताबिक बेनेफिशयरी की मंजूरी के बिना आपका पैसा वापस पाना संभव नहीं है।
Read More

Saturday, 8 December 2018

GST (GSTR-9 , GSTR-9A, GSTR-9C) ANNUAL RETURN DATE EXTENDED

Saturday, December 08, 2018 0

Extension of due date for filing FORM GSTR-9, FORM GSTR-9A andFORM GSTR-9C FORM GSTR-9 and FORM GSTR-9A have been notified


1. FORM GSTR-9 and FORM GSTR-9A have been notified vide notification No. 39/2018-Central Tax, dated 04.09.2018 while FORM GSTR-9C has been notified vide notification no. 49/2018-Central Tax, dated 13.09.2018 as part of the CGST Rules.

2. The competent authority has decided to extend the due date for filing FORM GSTR-9, FORM GSTR-9A and FORM GSTR-9C till 31st March, 2019. The requisite FORMs shall be made available on the GST common portal shortly. Relevant order is being issued.






Download Press release

From Server 1 :- Click Here

From Server 2 :- Click Here

From Server 3 :- Click Here

From Server 4 :- Click Here

From Server 5 :- Click Here
Read More

No TDS is to be deducted if interest amount does not exceed 50000 in case of Senior Citizens

Saturday, December 08, 2018 0
No TDS deduction under section 194A of Income Tax Act' 1961 in case of Senior Citizens (if interest amount does not exceed 50000)

Income Tax Notification No. 06/2018 dated 06th December, 2018

F.No.Pro.DGIT(S)/CPC(TDS)/Notification/2018-19 
Notification No. 06/2018 
Government of India 
Ministry of Finance 
Central Board of Direct Taxes Directorate of Income-tax (Systems) 
New Delhi New Delhi, 
06th December, 2018

Subject: – TDS deduction under section 194A of the Income-tax Act, 1961 in case of Senior Citizens – reg.-


It has been brought to the notice of CBOT that incase of Senior Citizens, some TDS deductors/Banks are making TDS deductions even when the amount of income does not exceed fifty thousand rupees. The same is not in accordance with the law as the Income-tax Act provides that no tax deduction at source under section 194A shall be made in the case of Senior Citizens where the amount of such income or, the aggregate of the amounts of such income credited or paid during the financial year does not exceed fifty thousand rupees. (Please refer to the third proviso to sub-section 3 of section 194A) 

2.  Under sub-rule (5) of Rule 31A of the Income-tax Rules, 1962, the Director Generalof Income-tax (Systems) is authorized to specify the procedures, formats and standards for the purposes of furnishing and verification of the statements or claim for refund in Form 26B and shall be responsible for the day-to-day administration in relation to furnishing and verification of the statements or claim for refund in Form 26B in the manner so specified. 



3.  In exercise of the powers delegated by the Central Board of Direct Taxes (Board) under sub-rule (5) of Rule 31A of the Income-tax Rules, 1962, the Principal Director General of Income-tax (Systems) hereby clarifies that no tax deduction at source under section 194A shall be made in the case of Senior Citizens where the amount of such income or, the aggregate of the amounts of such income credited or paid during the financial year does not exceed fifty thousand rupees. 



(Dewangi Marthak )
Asstt. Commissioner of Income-tax (CPC-TDS),
O/o the Pro Director General of Income-tax (Systems),
New Delhi 


Download official Notification 

Server -1 Click Here
Server -2 Click Here
Server -3 Click Here
Server -4 Click Here
Server -5 Click Here
Server -6 Click Here
Server -7 Click Here
Server -8 Click Here

Note Copied from Notification as such.
Read More

Saturday, 1 December 2018

Important Due date Compliance Calendar for December 2018

Saturday, December 01, 2018 0
Here we are sharing important due date for tax professional and business man for complacence of various law for the month of December 2018 don't forget these date

1) 07-12-2018- Due date for deposit of tax deducted /collected at source for the month of November 2018.

2) 11-12-2018- Due date for filing GSTR-1 for the month of November 2018 Applicable for taxpayers with Annual Aggregate turnover Above Rs. 1.50/- Crore or opted to file monthly Return (Rs. One Crore Fifty Lacs) only. Notification No. 44/2018 – Central Tax

3) 15-12-2018- Due date for issue of TDS Certificate for tax deducted under section 194-IA (TDS on Immovable property) in the month of October 2018.

4) 15-12-2018 – Due date for issue of TDS Certificate for tax deducted under section 194-IB (TDS on Certain Rent payment) in the month of October 2018.

5) 15 -12- 2018 – Due date for furnishing of Form 24G by an office of the Government where TDS for the month of November 2018 has been paid without the production of a challan.

6) 15 -12- 2018 – Deposit of 3rd instalment of Advance tax for FY 2018-19 (ie AY 2019-20)

7) 15-12-2018- PF Payment for the month of November 2018.

8) 15-12-2018- ESIC Payment for the month of November 2018

9) 20-12-2018- GSTR-3B for the the month of November 2018.

10) 25-12-2018 – PF Return filling for the month of November 2018 (including pension and Insurance scheme forms).

11) 30-12-2018 – Due date for furnishing of challan-cum-statement in respect of tax deducted under Section 194-IA (TDS on Immovable property) in the month of November 2018.

12) 30-12-2018 – Due date for furnishing of challan-cum-statement in respect of tax deducted under Section 194-IB (TDS on Certain Rent payment) in the month of November 2018.


13) 31-12-2018 – GSTR-9 – The Most Comprehensive Annual Return / Statement for FY 2018-19 by all registered persons.

14) 31-12-2018 – For Composition Tax Payer in Form GSTR-9A

15) 31-12-2018 – GSTR-9C – The Most Comprehensive Annual Return for FY 2018-19 by registered person whose Annual Turnover for Financial Year 2018-19 is above Rs. 2 Cores ( Annual Return , Audited Annual Accounts and Reconciliation Statement in GSTR-9C)

16) 31-12-2018 – Due date of GST ITC-04 for the period of July 2017 to September 2018

17) 31-12-2018 – Taxpayers whose registration has been cancelled by the proper officer on or before September 30, 2018, shall be required to furnish the final return in Form GSTR-10 till December 31, 2018.

18) RFD-10:- Eighteen months after end of the quarter for which refund is to be claimed



Read More

Post Top Ad